TYPES OF INCOME

(कमाई कितने प्रकार की होती है)

Types Of Income (कमाई के तरीके): Type Of Income Which Make You Rich

Type of income इस पोस्ट में, मैं आपको बताऊंगा कि इनकम यानी कि कमाई कितने तरह की होती है? और आपको किस तरह की इनकम के लिए काम करना चाहिए. ताकि आप अपने जीवन में पैसे की कमी को पूरा कर सकें और आप अपने हर सपने को सच कर सकें. जिसको करने के लिए आपने अपना ये कीमती इंसान का जन्म लिया है |

आपके मन में एक सवाल जरूर आता होगा कि :

” गरीब क्यों गरीब और अमीर क्यों और अमीर होते जाते है?”

आपने देखा होगा की बहुत से लोग बहुत अधिक मेहनत यानी हार्ड वर्क करने के बाद भी ज्यादा पैसे नहीं कमा पाते है

यानी की अमीर क्यों नहीं बन पाते है जबकि कुछ लोग बिना मेहनत के या बिना कुछ ख़ास काम किये अमीर कैसे बन जाते है?

तो दोस्तों आप आपका ये कंफ्यूजन दूर हो जाएगा और आप अच्छे से समझ जायेगें की आखिर ऐसा क्यों होता है?

तो चलिए में आपको सबसे पहले बताता हूँ की ये इनकम या कमाई होता क्या है?

What is Income? इनकम क्या होता है?

इनकम वो पैसा होता है, जो हमें किसी एक निश्चित समय के बाद लगभग एक निश्चित मात्र में प्राप्त होता रहता है .

जैसे – तनखा या सैलरी, किराया, पेंशन, बैंक से ब्याज या
किसी बिज़नस से आने वाला प्रॉफिट ऐसे ही और तमाम चीजें जिनसे हमें लगातार पैसे मिलते रहते है .

इनकम और पैसे कमाने में एक बहुत बड़ा फर्क होता है .
जी हाँ दोंस्तों अगर आप थोडा सा ध्यान देंगे तो आपको पता चल जाएगा की पैसा कमाने और इनकम कमाने में फर्क होता है |

जैसे – लाटरी यानी जुआ खेलने से भी पैसे कमाए जा सकते है,
लेकिन जुआ या लाटरी से हम रेगुलर पैसा नहीं कमा सकते है .

और इसलिए ये कहा जा सकता है की लाटरी से पैसा तो कमाया जा सकता है, लेकिन इनकम नहीं कमाया जा सकता .
इस तरह से अब आपको क्लियर हो गया होगा की इनकम कमाना और पैसा कमाना दोनों अलग-अलग बात है .

इसलिए आपको पैसा कमाने पर नहीं बल्कि इनकम कमाने पर ध्यान देना चाहिए .

तो चलिए अब जानते है की “इनकम कितने प्रकार का होता है और हमें अमीर बनाने के लिए कौन-सा इनकम कमाने पर ध्यान देना चाहिए?

TYPES OF INCOME? इनकम के तरीके ?

इनकम यानी कमाई तीन तरीके से की जाती है :

1. एक्टिव इनकम (Active Income)
2.पैसिव इनकम (Passive Income)
3. पोर्टफोलियो इनकम (Portfolio Income)

अब में आपको इन तीनों तरह की इनकम के बारें में विस्तार से बताता हूँ तो फिर आपको एक दम क्लियर हो जाएगा की कौन-सी इनकम कैसे होती है.

और आपको कौन-सी इनकम करने पर ध्यान देना चाहिए, जिससे आप भी अमीर बन सकें.

TYPES OF INCOME: 1. एक्टिव इनकम (Active Income)

एक्टिव इनकम वो इनकम होता है, जिस इनकम के लिए हमें एक्टिव रूप से काम करना पड़ता है.

यानी तब तक हम काम करते है सिर्फ तभी तक हमें पैसा मिलाता है. यानी काम बंद तो आपकी इनकम भी बंद हो जाती है.
एक्टिव इनकम में हम अपने टाइम के बदले पैसा कमा रहे होते है.

(we actually exchange money for time)

जैसे – किसी भी तरह की नौकरी से मिलाने वाली सैलरी, रोज की दहाड़ी, मजदूरी पर काम करने से मिलने वाली इनकम, या

कोई भी ऐसा बिज़नस या काम जिसमें हमारा होना जरूरी हो,

जैसे किराने की दुकान, या किसी अन्य तरह की दुकानदारी का बिज़नस जिसमें मालिक वहां पर रहता हो और एक्टिव रूप से काम करता हो.

इसके अलावा अगर कोई इंजीनियर, डॉक्टर, एडवोकेट, चार्टर्ड अकाउंटेंट भी अगर खुद ही काम करता है और पैसे कमाता है और वो जब अपनी ऑफिस खोलता है तभी उसको इनकम होती है.

और जब वो छुट्टी पर रहता है तो उसकी इनकम बंद हो जाती है, तो इस तरह के सभी इनकम को “ACTIVE INCOME” कहा जाता है|

अर्थात, सिर्फ एक्टिव इनकम कमाने से अमीर या धनी नहीं बना जा सकता है|
मैंने इस पोस्ट के शुरू में 2 सवाल पूंछे थे कि :

“ऐसा क्यों होता है, कि ज़िन्दगी भर बहुत ज्यादा मेहनत करने के बाद भी ज्यादातर लोग अमीर क्यों नहीं बन पाते है.”

तो इस सवाल का सबसे सही जवाब है –

“सिर्फ एक्टिव इनकम पर डिपेंड रहने के कारण ही ऐसा होता है.”

ज्यादातर लोग सिर्फ एक्टिव इनकम पर डिपेंड रहते है और इसलिए वे कभी लम्बे समय के लिए अमीर नहीं बन पाते है.

अंग्रेगी में एक कहावत है –

“If You Don’t Know Making Money While You Sleep,

You Never Get Rich.”

यानी कि, अगर आप सिर्फ एक्टिव इनकम पर डिपेंड है, आप पैसे तभी कमाते है जब आप काम करते है.

और आपके पास दूसरा कोई इनकम का जरिया नहीं है तो इस बात की पूरी गारंटी है कि आप कभी अमीर नहीं बन सकते है |

तो ऐसा हो सकता है, कि आप ज़िंदगी भर के लिए कड़ी से कड़ी मेहनत यानी केबल हार्ड वर्क करते रह जायेंगे, लेकिन कभी अमीर नहीं बन पायेंगे.
और इसलिए हमारे देश की 90% से भी अधिक आवादी कड़ी मेहनत करने के बाबजूद गरीब के गरीब ही रह जाते है.

क्योकि वो जिन्दगी भर सिर्फ कड़ी मेहनत ही करते रह जाते है.
वो सभी एक ही तरह से पैसे कमाना सीख पाते है एक्टिव इनकम ( Active Income )

एक्टिव इनकम कमाने वाले अमीर क्यों नहीं बन सकते?

एक्टिव इनकम कमाने वाले लोग जब काम करना बंद कर देते है, तो उनके बचत का सारा पैसा धीरे-धीरे बीमारी या ऐसे ही अन्य तरीकों से खर्च होने लगता है |
और अंत में उनके पास पैसा बचता ही नहीं है और ना ही कोई ऐसा इनकम सोर्स होता है जहाँ से उनको काम नहीं करने के बाबजूद पैसा मिले.

TYPES OF INCOME: 2.पैसिव इनकम (Passive Income)

पैसिव इनकम एक्टिव इनकम के बिल्कुल उल्टा होता है.
पैसिव इनकम वो इनकम होता है जिसमें आपका एक्टिव रूप से काम करना जरूरी नहीं होता है.

पैसिव इनकम में आपके द्वारा बनाया गया बिज़नस का सिस्टम आपके लिए काम करता है.
और आपके एक्टिव रूप से काम नहीं करने के बाबजूद आपको बैठे-बैठे निश्चित समय पर इनकम मिलता ही रहता है.

जैसे – आपने एक होटल शुरू किया और बाद में उस होटल में एक सिस्टम बना दिया, एक मेनेजर रख दिया,

और आप आप घर बैठे है और आपके पीछे आपके होटल का सिस्टम सही तरह से काम करता है.

जिसको आप अपने मेनेजर की मदद से आराम से बिना एक्टिवली काम करते हुए अच्छी तरह से संभाल रहे हो और बहुत अच्छी इनकम या कमाई कर रहे हैं.

और इसी तरह ऐसा कोई भी बिज़नस, ऐसा कोई भी काम जहा से आपको इनकम तो मिलता है, लेकिन उस इनकम के लिए आपको एक्टिव रूप से काम नहीं करना पड़ता.

तो इस तरह की इनकम को पैसिव (Passive Income ) कहा जाता है.

इसके अलावा पैसिव इनकम के कुछ और भी उदाहरण है

जैसे – Internet Business (Affiliate Marketing, Google Adsense Income, Youtube, Blooging Income),

रियल स्टेट बिज़नस ( घर, प्लाट, मकान, दुकान ) से मिलने वाले किराये की इनकम भी पैसिव इनकम हो सकती है अगर आपको रेगुलर मिलता है .

TYPES OF INCOME: 3. पोर्टफोलियो इनकम (Portfolio Income)

पोर्टफोलियो इनकम काफी हद तक पैसिव इनकम ही है.
पोर्टफोलियो इनकम में आपका पैसा आपके लिए काम करता है,

जैसे – आपके अच्छे इन्वेस्टमेंट, बैंक में जमा पैसा, गोल्ड, बांड्स, कमोडिटीज, स्टॉक मार्किट इन्वेस्टमेंट, म्यूच्यूअल फण्ड इन्वेस्टमेंट आदि.

यानी जब आप अपने पैसों को ऐसी जगह पर इन्वेस्ट करते है, जहाँ से आपको एक रेगुलर इनकम मिलने की उम्मीद होती है तो इस तरह की इनकम को पोर्टफोलियो इनकम कहते है.

SUMMARY: TYPES OF INCOME ( सारांश )
दोंस्तों अब आप समाच चुके है की इनकम तीन तरह का होता है और एक्टिव इनकम के कारण ही ज्यादातर लोग हार्ड वर्क करने के बाबजूद जिन्दगी में कुछ ख़ास नहीं कर पाते है.
साथ ही आपको इस पोस्ट से ये जरूर समझ आया होगा कि –

अगर आप भी अमीर बनना चाहते है तो आपको किस तरह की इनकम के लिए काम करना चाहिए, ताकि आप भी पैसे की समस्या को हमेशा के लिए ख़त्म कर सकों.

उम्मीद करता हूँ ये पोस्ट टाइप ऑफ़ इनकम आपको जरूर पसंद आया होगा

और आप इसे लायक करके अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करेंगे और आपने विचार मुझे नीचे कमेंट में लिखकर जरूर बताये.
पूरा पोस्ट पढ़ने के लिए आपका धन्यबाद!

लेखक : SPSINGH