News

असली प्यार क्या है ?

असली प्यार क्या है ?

प्यार शब्द हमेशा अधूरा होता है तथा ये हमेशा से दुखद अनुभव प्राप्त होता है क्यूंकि प्यार का पहला अक्षर ही अधूरा है जो हम आज तक समझ ही नही पा रहे है हम अपने से ज्यादा दूसरों में प्यार पाने की उम्मीद दिलों में बसाये हुए है।जो व्यक्ति अपने आप से प्यार कभी नही किया वो साप्ताहिक प्यार वेलेंटाइन डे में ढूंढता है। जिस दिन से व्यक्ति अपने-आप से प्यार करने लगेगा उसे आत्मज्ञान,सकारात्मक सोच,उम्मीदों और बंधनों से परे एक खूबसूरत एहसास मिलेगा।

Share it on

18 Comments

  1. SANWARMAL GODARA / February 11, 2018

    Nice pramod ji

    • PRAMOD SETH / February 12, 2018

      Thanks

    • VijaySingh123 / March 27, 2018

      Very Nice reply

  2. ashu.up33 / February 12, 2018

    सही कहा सर आपने

  3. Ashok tyagi / February 12, 2018

    प्यार की बहुत सुंदर परिभाषा दी है8 आपने प्रमोद जी

  4. Vependra Choudhary / February 14, 2018

    Thank you sir

  5. Satya Kumar / February 16, 2018

    good sir

  6. Kamlesh / February 16, 2018

    Butiful line.

  7. Rajesh Kumar tiwari / February 17, 2018

    Nice pramod ji

  8. PRAMOD SETH / February 23, 2018

    All member’s Thanks

  9. Nageshkumar / March 2, 2018

    Nic…. Lain

  10. LALIT KUMAR SHUKLA / March 10, 2018

    GOOD DEFINATION

  11. kartikey dubey / March 13, 2018

    Good line

  12. JAY PRAKASH MAHTO / March 23, 2018

    सही बात है सर जी

  13. DEEPAK SOREN / April 27, 2018

    Nice thought sir…

  14. YATINDRA PRASAD SINGH / May 20, 2018

    Nice

  15. Mukesh Tarvi / July 19, 2018

    Bahut achhe vichar hai aapke

  16. Jyoti / July 21, 2018

    Very nice

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *