नमस्कार दोस्तों,

आप सोच रहे होंगे कि आज में आपको क्या बताने वाला हूँ,जी बिलकुल आज आपको जीवन का और सफल लोगों का रहस्य बताने जा रहा हूँ।

अमीरों ने ऐसा क्या किया ?

अमीरों ने ऐसा क्या किया इसके बारे में बाद में बात करेंगे पहले ये जान लेते हैं कि आपने ऐसा क्या किया जो आप असफल हो।

आप आज जो भी हैं जैसे भी है आप अपनी ही रचना हैं। आप वैसे तो अपनी मर्ज़ी के मालिक हो पर फिर भी आपका मन आप पर हुकूमत करता है, शायद आपको बात समझ नही आ रही होगी कि ये तुम क्या बोल रहे हो पर यही सच है आप अपनी ही कल्पना हो। जी हाँ आपकी सोच और आपका मन ही आपके जीवन को आकार दे रहा है या सरल भाषा मे कहूँ आप जैसा सोचते हो वैसे ही बन जाते हो और जो आप जितनी गहराई से सोचते हो उतनी ही जल्दी आप उस सोच के अनुसार ढल जाते हो।

आप ये तो जानते ही होंगे कि 21 दिन में हम किसी भी काम के आदी हो जाते हैं अगर हम एक ही काम को लगातार 21 दिन करते हैं तो ये हमारी आदत बन जाती है,फिर अगर हम दिमाग न भी लगाए तो भी काम होने लगता है और इस बात का असर हमारी सोच से होकर गुजरता है।

अक्सर आपने देखा होगा कि जब हम किसी काम को करने की सोचते हैं तो उस काम से सम्बंधित व्यक्ति हमसे मिल जाता है और हम उससे कहते हैं अच्छा हुआ तुम आ गए मुझे तुमसे एक काम है।या फिर जब हम किसी के बारे मे बात करते हैं तो वो आ जाता है और हम उससे कहते हैं कि आपकी उम्र 100 साल है अभी हम आपकी ही बात कर रहे थे। तो ऐसा क्यों होता है ये हमारी सोच की ही उपज है।

अगर हम असफल हो रहे हैं तो ये हम ही कर रहे हैं,हमारी ही सोच हमे असफल कर देती है।जिसने पढ़ने का सोच लिया वो पढ़ गया और जिसने सोच लिया कि मेरा दिमाग नही लगता तो बिल्कुल ऐसा ही होगा आपका दिमाग नही लगेगा डिअर फ्रेंड्स।



अमीरों ने ऐसा क्या किया ?

अब जान लेते हैं अमीरों ने ऐसा क्या किया,अमीर व्यक्ति पहले से ही अमीर नही थे मैं उनकी बात कर रहा हूँ जिनको रईसी या जायदाद अपने पूर्वजों से नही मिली। अमीर व्यक्ति पहले हमसे भी बुरी स्थिति में जी रहे थे लेकिन जो उनकी सोच और विश्वास था वो काफी गुना हमसे ज्यादा था। उनकी सोच में सिर्फ और सिर्फ ये चल रहा था कि अपने जीवन को कैसे बदला जाए।  फिर क्या था वो सोचते गए और वैसा ही होता गया लेकिन हर बार वो अपनी सोच को बेहतर करते गए और आज उनकी सोच इतनी बड़ी हो गई है कि अगर पैसों की बात की जाये तो उनकी सोच में आज पैसा पानी की तरह है वो उसको मायने नहीं रखता है। कुछ अमीर लोगों ने अपनी सारी कमाई त्याग कर सादा जीवन जीने लगे,ये भी उनकी सोच का ही नतीजा है। आपने जो भी सोचा काफी हद तक उसके पास पहुंचे होंगे मंज़िल पास ही होगी लेकिन फिर आपके मुंह से निकला होगा कि ये मेरे वस का नही या मेरी किस्मत खराब है और ऐसा सोचते ही प्रकृति ने अपना काम शुरू किया और आप वहीं आ पहुंचे जहां आप अपने को आज देख रहे हो।

आपने ये कहावत तो सुनी होगी कि अगर किसी को दिल से पूरी शिद्दत से चाहो तो सारी क़ायनात उससे आपको मिलाने में जुट जाती है। ये बात 100% सही है इस सोच के जादू से मैं भलीभांति परिचित हूँ। आपकी सोच ही आपको छोटा बनाती है और आपकी सोच ही आपको बड़ा बनाती है लोग कहते है कोई काम छोटा बड़ा नही होता ये बात सही है लेकिन हम अपनी सोच से उस काम को बड़ा या छोटा कर सकते हैं। जैसे:-


👉 bata company जूते चप्पल बनाती है और एक मोची भी जूता बनाता है तो जैसा कि काम एक ही हो रहा है लेकिन हमारी सोच अलग अलग जगह अलग तरह से सोच रही है।


इस प्रकार से हम अपने जीवन को भी अलग अलग सोच के साथ जी रहे हैं। कई लोग इस रहस्य को law of attraction के नाम से भी जानते हैं।आकर्षक का नियम काफी सफल रूप से काम करता है और मैं भी इसको आजमा चुका हूँ। 

इस धरती और इस ब्रह्मांड में कुछ नियम काम करते हैं,जैसे गुरुत्वाकर्षण का नियम या न्यूटन के गति के नियम ये वो नियम हैं जो हर किसी के लिए एकसमान हैं अगर कोई व्यक्ति ये कहे कि मैं इन नियमो को नही मानता तो भी पूरे नियम उस व्यक्ति पर काम करते हैं। अगर कोई ऊपर से कूदेगा तो नीचे गिरेगा ही चाहे वो इस गरूत्व के नियम को माने अथवा न माने। इसीप्रकार से आकर्षण का नियम भी काम करता है।तो जो आप जी जान से सोचते हो उसके रास्ते अपने आप बनने लगते हैं, तो आप अब इस बात को ध्यान रखें था अपने जीवन मे आकर्षण करके देखें सबसे पहले कोई छोटी सी चीज आकर्षित करें और ऐसा फील करें जैसे वो आपको मिल गई हो। अगर फिर भी कोई सवाल हो तो कमेंट्स सेक्शन में अवश्य लिखें।



लेखक-☺

MOHIT Ji

Thanks all



 

 

 

शेयर बाज़ार के बारे में

पथरी का सफल इलाज़

Skip to toolbar